सचिन पायलट का अनशन 5 घंटे में खत्म

जयपुर
सचिन पायलट का अनशन जयपुर के शहीद स्मारक पर मंगलवार सुबह 11 बजे शुरू हुआ, जो करीब पांच घंटे चला।
राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट का अपनी ही सरकार के खिलाफ एक दिन का अनशन 5 घंटे में ही खत्म हो गया। मंगलवार शाम करीब पौने 4 बजे समर्थकों ने मिठाई खिलाकर पायलट का अनशन तुड़वाया।

अनशन खत्म होने के बाद पायलट ने कहा- मैंने सिर्फ करप्शन पर कार्रवाई के मकसद से अनशन रखा था। यदि बात संगठन की होती तो मैं संगठन से बात करता। साल भर से मैं मुख्यमंत्री से मांग कर रहा था।

पायलट ने कहा कि करप्शन के खिलाफ हमारी जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी रही है तो कार्रवाई भी होनी चाहिए। मुझे उम्मीद है कि कार्रवाई जरूर होगी। करप्शन के खिलाफ हमारा संघर्ष जारी रहेगा, हम चाहते हैं कि देश और प्रदेश में स्वच्छ राजनीति हो।

पायलट बोले- पुराने प्रभारी को लेटर मार्क किए थे
सचिन पायलट ने बीजेपी राज के करप्शन पर प्रभारी रंधावा से बात नहीं करने के सवाल पर कहा कि रंधावा अभी नए प्रभारी बने हैं। इनसे पहले जो प्रभारी थे, उन्हें लेटर की कॉपी मार्क की थी। चर्चा करते रहते हैं। रंधावा ने कहा था कि बीजेपी राज के करप्शन की जांच को लेकर सचिन पायलट ने उनसे बात नहीं की।

पायलट भाजपा की सीएम वसुंधरा राजे के शासन में हुए घोटालों की जांच की मांग को लेकर गहलोत सरकार के खिलाफ अनशन पर बैठे थे। वे सुबह अपने समर्थकों के साथ यहां पहुंचे। ऐसा कहा जा रहा था कि वे कोई अलग पॉलिटिकल लाइन ले सकते हैं, लेकिन अभी तक उन्होंने ऐसी कोई घोषणा नहीं की है।