फॉक्सकॉन-वेदांता में 19.5 अरब डॉलर का समझौता टूटना क्या पीए?

फॉक्सकॉन-वेदांता में 19.5 अरब डॉलर का समझौता टूटना क्या पीए?

ताइवान की फॉक्सकॉन टेक्नॉलजी ने भारत के वेदांता समूह के साथ गुजरात में सेमीकंडक्टर उत्पादन प्लांट लगाने का 19.5 अरब डॉलर का निवेश समझौता रद्द कर दिया है.
इस फ़ैसले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भारत को सेमीकंडक्टर निर्माण का हब बनाने की महत्वाकांक्षी योजना को भी झटका लग सकता है.
हालांकि भारत सरकार ने कहा है कि फॉक्सकॉन के वेदांता के साथ साझा उद्यम से पीछे हटने से भारत के सेमीकंडक्टर लक्ष्यों में कोई बदलाव नहीं आएगा.
भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखरन ने कहा है कि इस फ़ैसले से दोनों कंपनियां स्वतंत्र रूप से अपनीरणनीति पर काम कर सकेंगी.
एक ट्वीट में राजीव चंद्रशेखरन ने कहा है कि भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले 9 साल में इलेक्ट्रानिक्स के उत्पादन में और पिछले 18 महीनों में सेमीकॉन के उत्पादन में अहम प्रगति हासिल की है.