लालसिंगी में विश्व मौखिक स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य पर ज

लालसिंगी में विश्व मौखिक स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य पर जिला स्तरीय जागरूकता शिविर

                    स्लम एरिया के बच्चों को मुख से संबंधित बीमारियों बारे किया जागरूक

NEWS Himachal

ऊना, 20 मार्च, 2023

क्षेत्रीय अस्पताल ऊना द्वारा स्लम एरिया के राजकीय प्राथमिक पाठशाला लालसिंगी ऊना में विश्व मौखिक स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य पर जिला स्तरीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया। इस बारे जानकारी देते हुए सीएमओ ऊना डाॅ मंजू बहल ने बताया कि इस दिन को मनाने के पीछे खास मकसद होता है लोगों में ओरल हाइजीन और ओरल हेल्थ के महत्व को समझाना तथा इससे संबंधित समस्याओं के प्रति लोगों को जागरूक करना है।
डेंटल चिकित्सक डॉ कपिल भरवाल ने बताया कि जिस तरह पेट, ह्रदय, आंख, कान, नाक संबंधी बीमारियों के प्रति लोग जागरूकता रखते हैं, अब समय है कि लोग मौखिक स्वास्थ्य के प्रति भी जागरूक हो जाएं। उन्होंने बताया कि आज भी कई सारे लोग ऐसे हैं जो अपने मुंह की सफाई नहीं करते हैं, चिकित्सक के पास नहीं जाते हैं और दिन-ब-दिन अपने मौखिक स्वास्थ्य को खराब कर लेते हैं। मुंह से आने वाली दुर्गंध के प्रति भी लोग जागरूक नहीं हैं। मौखिक सेहत के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए ही इस दिन की शुरुआत की गई।
जन शिक्षा एवं सूचना अधिकारी शारदा सारस्वत ने जानकारी देते हुए बताया कि विश्व मौखिक स्वास्थ्य दिवस का इस वर्ष का विषय ‘बी प्राइड ऑफ योर माउथ है।’ अर्थात आपको अपने मुंह पर गर्व होना चाहिए जिसका आशय यह है कि आपको अपने मौखिक स्वास्थ्य को हर परिस्थिति में बेहतर रखना है क्योंकि मौखिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति के अन्य अंग भी प्रभावित होते हैं। इसलिए समय-समय पर चिकित्सक के पास चेकअप के लिए जाना बहुत जरूरी है। मौखिक स्वास्थ्य यदि ठीक नहीं है तो इससे कई सारी बीमारियां हो सकती हैं। अच्छे मौखिक स्वास्थ्य के लिए संतुलित आहार लेना भी जरूरी है।
जिला स्वास्थ्य शिक्षक गोपाल कृष्ण ने बताया कि सभी को दिन में डॉ बार दांतों को ब्रश करना चाहिए। दांतों में सड़न, कीड़े लगना जैसी समस्या मुंह में मौजूद एसिड के कारण होती है। इस वजह से दांतों के इनेमल खोखले होने लगते हैं और यही कारण है कि कैविटी का निर्माण होता है। इसके अलावा मुंह में मौजूद बैक्टीरिया दांतों को खराब करने लगते हैं। समय पर ध्यान न देने पर मुंह का कैंसर भी हो सकता है।
इस मौके पर सभी बच्चों को टूथ ब्रश करने की सही तकनीक के बारे में जानकारी दी तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी बच्चों को टूथ ब्रश, टूथ पेस्ट तथा फल बांटे गये।
जागरूकता शिविर में स्कूल की मुख्याध्यापिका अविनाश कुमारी, समस्त स्कूल स्टाफ, डॉ शगुन दन्त चिकित्सक, बीसीसी समन्वयक कंचन माला, स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता अनुराधा, एनजीओं एएनएम सविता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मंजू, नीलम, राज कुमारी तथा आशा वर्कर सहित अन्य उपस्थित रहे।